Header Ads Widget

Responsive Advertisement

Ticker

6/recent/ticker-posts

टोकनाईजेशन स्कीम का उद्देश्य

 टोकनाईजेशन :-

भारतीय रिजर्व बैंक ने ऑनलाइन फ्रॉड पर लगाम लगाने के लिए अपनी इस टोकनाईजेशन स्कीम का प्रसार और भी बढ़ा दिया हैं। इसके द्वारा आप डेस्कटॉप ,लैपटॉप ,स्मार्टवॉच, बैंड और इंटरनेट ऑफ थिंग्स {IOT} डिवाइस तक के जरिये टोकनाईजेशन का लाभ उठा पायेंगे। 

आरबीआई ने कहा हैं कि स्टैक्होल्डर्स की प्रतिकिर्या को ध्यान में रखते हुए और स्थिति का जायजा करते हुए केंद्रीय बैंक ने डेस्कटॉप ,लैपटॉप, स्मार्टवॉच,बैंड और इंटरनेट ऑफ थिंग्स { IOT }डिवाइस को टोकन के दायरे में कर लिया हैं। 


टोकनाईजेशन का उद्देश्य :-    

इस टोकनाईजेशन स्कीम का उद्देश्य आपके पेमेंट को और भी ज्यादा सुरक्षित करना हैं इसमें आपको भुगतान के लिए अपन डेबिट/क्रेडिट कार्ड का पूरा विवरण नहीं देना होगा बल्कि इसके लिए एक विशेष प्रकार का टोकन देना होगा। यह एक प्रकार का यूनिक कोड होगा जो आपके कार्ड ,टोकन  मांगने वाले और जो डिवाइस जिससे टोकन भेजा जा रहा हैं, से मिलकर बना होगा। इससे ऑनलाइन फ्रॉड की शिकायत नहीं होगी और आप आसानी से भुगतान कर पायेंगे।  


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ