Header Ads Widget

Responsive Advertisement

Ticker

6/recent/ticker-posts

ब्लैक फंगस (काली फफूँदी )क्या होता हैं और इसके क्या लक्षण हैं :-

ब्लैक फंगस का मतलब क्या होता हैं :- 

इसका मतलब म्यूकरमाइकोसिस होता हैं यह एक प्रकार का फंगल इन्फेक्शन हैं। इसके ज्यादातर मरीज कोरोना वायरस के दौरान देखने को मिल रहे है। इस प्रकार का इन्फेक्शन उन लोगों में आसानी से फैल रहा है जो पहले कभी किसी और बीमारी से जूझ रहे हो और खासकर जिन लोगों का इम्यून सिस्टम काफी कमजोर हो। 

इंडियन कॉउन्सिल ऑफ मेडिकल रिसर्च  के अनुसार कुछ खास स्थिति में ही कोरोना मरीजों को ब्लैक फंगस का खतरा बढ़ा रहता है। जैसे - डाईबिटिज,कमजोर इम्युनिटी ,ऑर्गन ट्रांसप्लांट ,कैंसर जैसी भयानक बीमारी वाले मरीजों को यह खतरा ज्यादा रहता हैं। 

सामान्य लक्षण:-  

1 - बुखार , सिरदर्द ,खांसी और साँस लेने में तकलीफ। 
2 - चेहरे में एक तरफ दर्द ,सूजन हो और सुन्न हो। 
3 - दांत में दर्द ,दांत हिलना और चबाने में दर्द हो। 
4 - नाक बंद होना,तालु या नाक पर काले-काले धब्बे पड़ना और नाक     में म्यूकस के साथ खून आना। 
5 - आँख में दर्द ,आँख का लाल हो जाना और दिखना बंद जाना। 
6 - उल्टी में या खांसने पर बलगम में खून आना। 


बचाव :-

1- धूल वाली जगह पर हमेशा मास्क पहनकर रखें। 
2 - मिट्टी, काई (फंगस ) खाद जैसी चीजों के पास जाते समय फुल बाजू की शर्ट और जूतें पहनकर रखें। 
3 - डाईबिटिज के लेवल को मैंटेन और कंट्रोल में रखें। 
4 - हरी सब्जियां और फलों का सेवन करें। 
5 - अपने आप किसी भी तरह की दवाई का सेवन न करें। 
6 -  साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें।  


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ